0

Intizaar Shayari

झुकी हुई पलकों से उसका दीदार किया,  

सब कुछ भुला के उसका  इंतजार किया,  

वो जान ही न पायी जज्बात को मेरे,  

मैंने सबसे ज्यादा जिसे प्यार किया…

 

Jhuki Hui Palkon Se Uska Deedaar Kiya,

Sab Kuchh Bhula Ke Uska Inezaar Kiya

Wo Jaan Hi Na Payi Jajbaat Mere,

Maine Sabse Jyada Jise Pyar Kiya..

 

Abhi to Labo Par Tumhara..

!! अभी तो लबों पर तुम्हारा इनकार है.

इसलिए मेरा दिल भी बेकरार है.

इंतज़ार है मुझे उस दिन का,

जिस दिन आप खुद कहोगी,

हाँ मुझे भी तुमसे बहुत प्यार है. !!

Abhi to Labo Par Tumhara Inkaar hai.

Esliye Mera Dil Bhi Bekraar hai.

Intizaar hai Mujhe us Din ka,

Jis Din aap Khud Kahogi,

Ha Mujhe Bhi Tumse Bhut Pyaar h..

 

 

Ek Raat Wo Gayi…

!! एक रात वो गयी थी  जहाँ बात रोक के.

अब तक रुका हुआ हूँ  वहीं रात रोक के. !!

 

Ek Raat Wo Gayi Thi  Jahan Baat Rok Ke,

Ab Tak Ruka Hua Hoon  Wahin Raat Rok Ke..

 

Pyaar Bhut hai Tumse Magar..

!! प्यार बहुत है तुमसे मगर इजहार नहीं करते. 

मेरी ख़ामोशी से ये ना समझना की तुमसे प्यार नहीं करते. 

मेरी आँखें तो हर लम्हा तुम्हारी राह देखती है, 

और तुम कहती हो हम इंतजार नहीं करते !!.

 

Pyaar Bhut hai Tumse Magar Izhaar Nahi Karte.

Meri Khamosi s Ye Mat Smajhna ke Tumse Pyaar Nahi Karte.

Meri Ankhia to har Lamha Tumhari Raah Dekhti hai,

Or Tum Kehti ho Hum Intizaar Nahi Karte.

 

Sard Rato me Satati…

Sard rato me satati hi judai tari,

Aag bujhti nahi sine me lagai teri,

Tu to kahti thi bicchr ke sukun pa lange,

Fir kyu roti hi mere dar pe tanhai teri

 

!! सर्द रातों में सताती है जुदाई तेरी,

आग बुझती नहीं सीने में लगाई तेरी,

तू तो कहती थी बिछड़ के सुकून पा लेंगे,

फिर क्यों रोती है मेरे दर पे तन्हाई तेरी !!

 

Best Judai Shayari, Apki Aahat Dil…

Apki Aahat Dil ko bekraar karti hai.

Najar tlaas apko bar bar karti hai.

Gila nahi jo hum hai etni dur apse.

Hamari to judayi bhi apse pyaar Karti hai.

!! आपकी आहट दिल को बेकरार करती है,

नज़र तलाश आपको बार-बार करती है,

गिला नहीं जो हम हैं इतने दूर आपसे,

हमारी तो जुदाई भी आपसे प्यार करती है !!

 

Ab safar -ye-mohabbat…

Ab safar -ye-mohabbat khatam hi samajhiye sahab,

unke rabaiye se ab judai ki mahak aaye lagee hi|

 

!! अब सफर-ए-मोहब्बत खत्म ही समझिए साहब,

उनके रवैये से अब जुदाई की महक आने लगी है !!

 

Tu ukso chaha to bahut…

Tu ukso chaha to bahut par eathar n sar ske,

Kat gai umar kari kisi se payar n kar ske,

Usne manga bhi to apni judai mangi,

Aur hum the ki usko intejar n kar ske |

 

!! तू उसको चाहा तो बहुत पर इजहार न कर सके,

कट गई उम्र सारी किसी से प्यार न कर सके,

उसने माँगा भी तो अपनी जुदाई माँगी,

और हम थे कि उसको इंकार न कर सके !!

 

Best Judai Shayari,  Har ak baat….

Har ak baat par waqt ka takaja huwa.

Har ak yaat par dil ka dard taaja huwa.

Suna kartey they kahaniyo me judayi ke batey.

Khud pe beeti to haqiqat ka andaja huwa.

 

!! हर एक बात पर वक़्त का तकाजा हुआ,

हर एक याद पर दिल का दर्द ताजा हुआ,

सुना करते थे कहानियों में जुदाई की बातें,

खुद पे बीती तो हकीकत का अंदाजा हुआ !!

 

Read More Bewafa Shayari …..

R.K.KHAN

R. K. Khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *