0

Nafrat Shayari

उसने नफ़रत से जो देखा है तो याद आया,  कितने रिश्ते उसकी ख़ातिर यूँ ही तोड़ आया,  कितने धुंधले हैं ये चेहरे जिन्हें  मैंने था अपनाया है,  कितनी उजली थी वो आँखें जिन्हें छोड़ आया ..   Usne Nafrat Se Jo… Continue Reading